अम्बाला का ज़ायका मट्टरू टिक्की वाला अब चंडीगढ़ में भी

अम्बाला का ज़ायका व वहाँ की मशहूर पूड़ी और गोलगप्पे उत्तर भारत ही नहीं बल्कि पूरे देश में प्रसिद्ध है। अब वही जा़यका और स्वाद ट्राई सिटी के लोगों के लिए मट्टरू टिक्की वाला चंडीगढ़ में लेकर आए हैं। सेक्टर 19 स्थित सदर बाजार के बूथ न. 1 में मट्टरू टुक्की वाला विशेष तौर पर अम्बाला के कारीगरों द्वारा पकाई पूड़ी पाँच सब्जियों के साथ ट्राई सिटी के लोगों चखाने के लिए तैयार है। पूडी व गोलगप्पे के शौकीनों को अब अम्बाला जाने की जरूरत नहीं।


मट्टरू टिक्की वाला के प्रो.राजेश गोयल के अनुसार अम्बाला चार चीजों “पूड़ी, गोलगप्पे, पूरण सिंह का ढाबा और कपड़ा मार्केट” के लिए मशहूर है। उन्होंने बताया कि ट्राई सिटी के व्यंजनों व खाने पीने के शौकीन लोग आज भी वीकेंड पर नाश्ते के लिए अम्बाला जाते हैं। ऐसे लोगों की चाहत को देखते हुए अम्बाला से विशेष चार कारीगर बुलाए गए हैं। उन्होंने बताया कि नाश्ते में पूड़ी पाँच सब्जियों ” आलू तरी, चना, कद्ध (पेठा) और आलू सूखा, गाजर का आचार, हरी चटनी ” के साथ मात्र 10 रुपये में परोसी जाएगी।

राजेश गोयल के अनुसार गोलगप्पे सात स्वाद/पानी के साथ उपलब्ध है। चंडीगढ़ में सात स्वाद के गोलगप्पे केवल एक जगह ही मिलते हैं और वो भी काफी महंगे दाम पर , लेकिन अब हमारे यहाँ यही सात स्वाद (ज़ीरा, लेमन केवड़ा, पौदीना-धनिया, अनार-गुलाब, पेरू(अमरूद) आदि) के गोलगप्पे का स्वाद मात्र 20 रुपये में चखा जा सकता है।


राजेश गोयल के अनुसार ये व्यंजन अम्बाला में करीब 150 साल पुराने हैं। आज भी नाश्ते के लिए अम्बाला में मशहूर दुकान पर भीड़ लगी रहती है। उन्होंने बताया कि वे उम्मीद संस्था के मंद बुद्धि बच्चों को काम सिखा कर सक्षम बनाने में समाज सेवा में योगदान भी देते हैं।

Written By
More from Simran

Department of Biotechnology awards TERI for innovation in methane generation from coal beds

In recognition of the outstanding contribution of The Energy and Resources Institute...
Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *